कश्मीर : रमजान के महीने में पत्थरबाजों से निपटना सेना को बड़ी चुनौती

0
25

हाल ही में सोशल मीडिया पर एक बड़ी खबर सामने आ रही है जिसमे आपको बतादें कि रमजान के महीने में सेना के सामने ऑपरेशन रोकने के साथ पत्थरबाजों से निपटना भी एक चुनौती है। रमजान के महीने में सेना ने ऑपरेशन पर रोक लगाने की सहमति तो दे दी है, लेकिन उनकी चिंता पहले से कम नहीं हुई है।

इतना ही नहीं इकनॉमिक टाइम्स के अनुसार सेना के सामने इस वक्त चुनौती है कि वह दुर्गम क्षेत्रों में सर्च ऑपरेशन और आतंकी ठिकानों को नष्ट करने की कार्रवाई नहीं कर सकते। इसके साथ ही एनकाउंटर की सूरत में सुरक्षा बलों के लिए एक बहुत बड़ी चिंता एनकाउंटर स्पॉट पर पहुंचने की भी है। रमजान के महीने के लिए बनाए अल्पकालिक नियम के अनुसार सुरक्षा बलों की गश्त भी अपेक्षाकृत कम होगी।

वहीँ दूसरी और हाल ही में भीड़ ने क्विक रिऐक्शन टीम की भारी हथियारों से भरे वाहन और पहले भी कई बार सेना के काफिले पर हमला बोला है। सुरक्षा बलों के ऑपरेशन को बाधित करने के लिए भीड़ पूरी तरह से तैयार हो गई है और यह ऑपरेशन रोकने में कई बार सक्षम भी होते हैं।

एक वरिष्ठ सुरक्षा अधिकारी ने बताया कि जिहाद के नाम पर दुष्प्रचार बहुत तेजी से फैलाया जा रहा है। सोशल मीडिया इसमें और बड़ी भूमिका निभा रहा है। रमजान के महीने में नो ऑपरेशन का जो कदम उठाया गया है यह एक तरह से हमारी मुश्किलें बढ़ाने वाला ही है। सेना और सुरक्षा बलों के साथ यह शायद रक्षा मंत्रालय के लिए आश्चर्यचकित करने वाला फैसला है।

Comments

comments