आईआईटी के छात्रों ने उठाया दिल्ली के गावों को स्मार्ट बनाने का बीड़ा

0
11

सोशल मीडिया पर एक बड़ी खबर सामने आ रही है जिसमे आपको बताते चले कि भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आइआइटी) दिल्ली के पूर्व छात्र देश भर के गांवों की सेहत सुधारने के लिए आगे आ रहे हैं। वे गांवों में बुनियादी सुविधाएं मुहैया कराने के उद्देश्य से उन्हें गोद ले रहे हैं। गांवों को गोद लेने का यह मिशन आइआइटी दिल्ली के पूर्व छात्र संघ के बैनर तले चल रहा है।

इतना ही नहीं छात्र संघ से जुड़े 40 हजार छात्रों के पास इस अभियान से जुड़ने का एक सुनहरा मौका है। इस मुहिम में अब तक 10 गांवों को गोद लिया जा चुका है। आइआइटी दिल्ली के पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष अतुल बल ने बताया कि देश के विकास में अपनी भागीदारी निभाने के उद्देश्य से हमने पूर्व छात्रों को कुछ गांव गोद लेने के लिए कहा है। इस दौरान मुख्य रूप से गांव की ‘स्वच्छता’ पर ध्यान दिया जाएगा।

आपको बतादें कि इसके तहत गांवों में गंदे पानी की निकासी, सीवेज तंत्र, शौचालय निर्माण आदि पर विशेष जोर दिया जाएगा। जरूरत के हिसाब से गांवों में सामुदायिक स्वच्छता तंत्र विकसित किया जाएगा। इसके तहत ठोस और तरल कचरे के निस्तारण के लिए अलग-अलग तंत्र बनाया जाएगा ताकि गांव पूरी तरह से साफ दिखें

अतुल के अनुसार गांवों में अभी भी पुस्तकालयों का अभाव है जिसकी वजह से बच्चों को उनकी पढ़ाई में परेशानी आती है। इसी को ध्यान में रखते हुए पुस्तकालयों के निर्माण का निर्णय लिया गया है। अतुल ने बताया कि हमारा अनुमान है कि हमारे निर्धारित किए गए कार्यों के लिए एक गांव में 10 से 15 लाख रुपए खर्च होंगे। इन कामों के लिए उन्नत भारत अभियान, एनजीओ, सरकारी व कॉरपोरेट से मिलने वाले सीएसआर फंड और व्यक्तिगत प्रयासों से फंड जमा किया जाएगा

Comments

comments