पाकिस्तान के पास नहीं है सिंधु नदी पर डैम बनाने की रकम, अब अपना रहा यह तरीका

0
108

सिंधु नदी पर विवादित डैम प्रॉजेक्ट को शुरू करने के लिए पाकिस्तान के पास इतनी रकम नहीं है की वह उसका निर्माण कर सके. इतना ही नहीं इस दम को बनाने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी पाकिस्तान की मदद नहीं की जा रही है. उसने भारत के खिलाफ माहौल पैदा करने की नई चाल चली. राष्ट्रहित की बात कर अब देश में भारत के साथ 1965 में लड़े गए युद्ध की तरह का लोगों में जुनून पैदा करने की कोशिश की जा रही है.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (PoK) में सिंधु नदी पर प्रस्तावित इस डैम का भारत कई वर्षों से विरोध कर रहा है. अब पाकिस्तान की फौज और दूसरे प्रतिष्ठानों ने फंड जुटाने का नया तरीका अपनाया है. 2016 के उड़ी हमले के बाद दोनों देशों में पानी को लेकर संभावित टकराव अब एक हकीकत बन चुका है.

आपको बता दें कि, पाकिस्तान के चीफ जस्टिस साकिब निसार ने इस प्रॉजेक्ट के लिए पब्लिक फंड गठित करने का आदेश दिया है. इसके अलावा उन्होंने इस विवादित बांध के लिए पैसा जुटाने की कोशिश को भारत के साथ 1965 में हुई जंग से जोड़ा. चीफ जस्टिस ने खुद भी इस काम के लिए 10 लाख पाकिस्तानी रुपये दान किए.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, उन्होंने कहा, ‘1965 की जंग के दौरान जैसा जुनून देखा गया, वैसा ही अब दोबारा इस बांध के निर्माण के लिए होगा.’ आपको बता दें कि PoK के गिलगित बाल्टिस्तान इलाके में पाकिस्तान 4500MW का दियामेर-भाषा बांध बनाना चाहता है. जिसके लिए पाकिस्तान युद्ध तक करने को तैयार है!

Comments

comments