कार तोड़फोड़ केस: कांवड़ियों की गुंडागर्दी से सिख युवक ने बचाई थी महिला की जान

0
79

देश की राजधानी दिल्‍ली के मोती नगर इलाके में एक कावड़िए को हल्की सी गाड़ी टच हो जाने के मामले में पीड़ित महिला की जान एक सिख युवक की वजह से बच पाई। अन्यथा अनर्थ हो सकता था। जबकि वहाँ मौजूद पुलिस मुकदर्शक बनी रही।

सिख युवक ने बताया कि वह उस महिला की कार के पीछे ही अपनी कार से चल रहा था कि अचानक कांवड़ियों ने महिला कि कार पर हमला कर दिया। इस दौरान वे हाथ में हॉकी और बेसबॉल बैट लिए हुए थे। लेकिन सिख युवक ने पहले ही महिला को छोड़ चले जाने को कहा। जिसे उन्होने मान लिया।

सिख युवक ने पुलिस के उस बयान को भी गलत बताया कि जिसमे कहा गया कि कार ने पहले कांवड़िये को टक्कर मारी, फिर कांवड़िये को थप्पड़ भी मारा गया। उन्होने कहा, ‘ कहां है वो औरत…कहां है वो औरत, ढूंढो उसे… कांवड़िए लगातार कह रहे थे। सभी के हाथ में या तो हॉकी थी या तो बेसबॉल बैट। उन लोगों ने हंगामा करना शुरू कर दिया।’

शिव भक्तों का तांडव। दिल्ली के मोती नगर में एक कांवडिये से गाड़ी टच हो जाने पर कांवडियों ने जम कर उत्पात मचाया।

Posted by Jitender Sharma on Tuesday, August 7, 2018

उन्होने बताया कि कार में महिला का पर्स छूट गया था जो उन्होंने पुलिसवाले को दे दिया। वहीं बैक सीट पर एक स्कूल बैग भी पड़ा हुआ था। सिख युवक ने बताया, जब मैं मदद के लिए आगे बढ़ा तो कई लोगों ने बीच-बचाव करने पर मना किया। मैंने वही किया जो एक सिख को करना चाहिए।

सिख युवक ने बताया कि आखिर में ऐसे हालात हो गए थे कि वह लोग कहने लगे ‘सरदार ने महिला को भगा दिया।’ बता दें कि इस दौरान कावड़ियों ने गाड़ी में जमकर तोड़फोड़ की थी। इतना ही नहीं कांवड़ियों की भीड़ ने एक के बाद एक कार पर लाठियां बरसानी शुरू कर दीं। जब कार में तोड़फोड़ के बाद भी कावड़ियों का गुस्सा शांत नहीं हुआ तो, उन्होंने इसको पलट दिया।

Comments

comments