मानवाधिकारों को लेकर भिड़े सऊदी का कनाडा पर नया आरोप – “दुनिया में महिलाओं की सबसे बुरी स्थिति कनाडा में”

0
61

सऊदी अरब में 24 घंटों के भीतर कनाडा के राजदूत को देश से निकाल दिया गया. सऊदी के प्रसारणकर्ताओं और समर्थक सरकारी सोशल मीडिया एकाउंट्स ने अपने नए दुश्मन कनाडा पर कई आरोप लगाये है. कनाडा के खिलाफ सऊदी ने एक नयी मुहीम चलाई है जिसमें कहा गया है कि, “जिनके घर कांच के होते है उन्हें दूसरों के घरों पर पत्थर नहीं मारने चाहए.”

कनाडा की न्यूज़ वेबसाइट नेशनल पोस्ट के मुताबिक, सोमवार को सऊदी सरकार समर्थित न्यूज़ चैनल अल अरेबिया पर एक रिपोर्ट दिखाई गयी जिसमें कनाडा की जेलों में बंद कैदियों का बताय गया. रिपोर्ट में बताया गया कि, कनाडा के कुछ कैदियों की हालत इतनी खराब है की 75 % कैदी बिना सुनवाई के ही मर जाते है.

कुवैती की कमेंटेटर फहद अलीशली ने इस हफ्ते सऊदी टीवी पर दावा किया कि कनाडा महिलाओं के खिलाफ उत्पीड़न की दुनिया की सबसे ऊंची दरों में से एक है. “कनाडा में 1000 हत्या महिलाओं की रहस्य के बारे में क्यों नहीं बताया जा रहा है ?!” सऊदी टीवी पर कनाडा को लेकर यह बयान सऊदी-कनाडा विवाद के बाद ही सामने आयें है.

अल जज़ीरा की रिपोर्ट के मुताबिक, विशेषज्ञों का कहना है कि, सऊदी-कनाडा विवाद सिर्फ कनाडा विदेश मंत्री के बयान के बारे में नहीं है, बल्कि, रियाद द्वारा राज्य के मानवाधिकार रिकॉर्ड के खिलाफ बोलने के परिणामों के अन्य देशों को चेतावनी देने का यह नवीनतम प्रयास है.

टरनेशनल स्टडीज के जोसेफ कोरबेल स्कूल में डेनवर सेंटर फॉर मिडिल ईस्ट स्टडीज विश्वविद्यालय के निदेशक नादिर हाशमी ने कहा ,”यह स्पष्ट है कि [सऊदी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान] दुनिया के बाकी हिस्सों को संदेश भेजने के लिए कनाडा का इस्तेमाल कर रहे है. सऊदी कनाडा का इस्तेमाल कर पूरी दुनिया को यह सन्देश देना चाहता है कि आप सऊदी अरब के साथ व्यापार करना चाहते हैं, तो आपको मानवाधिकारों के मामलों में अपनी जुबां बंद करनी होगी.

Comments

comments