दिल्ली के अक्षरधाम मंदिर पर हुई आतंकी हमले की साज़िश नाकाम, 2 फरार एक गिरफ्तार

0
25

GRP ने मथुरा के पास भोपाल शताब्दी से संदिग्ध कश्मीरी आतंकी को धरदबोचा गया। गिरफ्तार संदिग्ध आतंकी ने पूछताछ में अपने दो साथियों के दिल्ली में छिपे होने और आतंकी प्लानिंग की जानकारी भी दी। पुलिस पूछताछ में उसने बताया कि उसकी और उसके साथियों की साजिश गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में अक्षरधाम मंदिर को निशाना बनाने की थी।

रविवार सुबह 8.30 बजे ट्रेन के यहां पहुंचते ही कोच-3 से अनंतनाग जिले के गांव बिलगांव का रहने वाला बिलाल अहमद वानी को जीआरपी ने दबोच लिया। उसके पास से अपना तथा एक महिला का आधार कार्ड और एक सिम मिला है। जीआरपी थाने में आर्मी इंटेलिजेंस, इंटेलिजेंस ब्यूरो, लोकल इंटेलिजेंस, एसपी सुरक्षा सिद्धार्थ वर्मा और एटीएस ने उससे आठ घंटे पूछताछ की।

इतना ही नहीं उसने बताया कि वह दिल्ली में ड्राइविंग करता था, लेकिन फिर वहां से भाग निकला। गलत ट्रेन में बैठने के कारण वह मथुरा आ गया था। बाद में उसे एटीएस अज्ञात स्थान पर पूछताछ के लिए ले गई। पूछताछ के दौरान उसने किसी नुकीली वस्तु से अपनी छाती पर ताबड़तोड़ वार करके खुद को घायल कर लिया। इस पर पुलिस ने उसके दोनों हाथ पीछे बांध दिए।

हालाँकि वह दिल्ली से भाग कर आने की जो कहानी बता रहा है, सुरक्षा एजेंसी अभी उस पर विश्वास कर रही हैं। सूत्रों की मानें तो संदिग्ध आतंकी की निशानदेही पर पुलिस ने दिल्ली के जामा मस्जिद इलाके में दो होटलों में उसके दो साथियों को पकड़ने के लिए दबिश दी। हालांकि पुलिस के पहुंचने से पहले ही दोनों वहां से फरार हो गए।