मुंबई- सिर्फ 94 मिनट में 323 किमी की दूरी तय करके 4 वर्ष की बच्ची की जान बचाई गयी

0
267

ऐसा नज़ारा आपको सिर्फ फिल्मों में ही देखने को मिला होगा, जब किसी शख्स की जान बचाने के लिए दिल को दूसरी जगह से लाया जाता है लेकिन मुंबई से औरंगाबाद के बीच की 323 किलोमीटर की दूरी को सिर्फ डेढ़ घंटे में अस्पताल तक पहुंचा दिया गया. गाड़ी की औसतन स्पीड लगभग 170 किलीमीटर प्रति घंटा रही.

औरंगाबाद से मुंबई के बीच की 323.5 किलोमीटर की दूरी एक जिंदा दिल के लिए छोटी साबित हुई। 4 साल की बच्ची के लिए एक जिंदा हार्ट को लाने के लिए केवल एक घंटा 34 मिनट का ही वक्त लगा। फोर्टिस अस्पताल की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि जालना की रहने वाली बच्ची का ऑपरेशन सफल रहा और उसे डॉक्टरों की देखरेख में रखा गया है।

अस्पताल के बयान में कहा गया है कि एक सड़क दुर्घटना में जान गंवाने वाले 13 वर्षीय लड़के का जिंदा हार्ट औरंगाबाद के एमजीएम अस्पताल में संरक्षित किया गया था। अस्पताल से औरंगाबाद हवाई अड्डे के लिए हार्ट 1:50 बजे निकाला गया था। अस्पताल ने कहा कि हार्ट 1:54 बजे हवाई अड्डे पर पहुंच गया था। केवल चार मिनट में 4.8 किलोमीटर की दूरी कवर करते हुए इसे ग्रीन कॉरिडोर बनाकर लाया गया।

एक चार्टर्ड फ्लाइट से 3 बजकर 5 मिनट पर इसे मुंबई हवाई अड्डे लाया गया। वहां से इसे 19 मिनट में 18 किलोमीटर दूर फोर्टिस अस्पताल में एक ग्रीन कॉरिडोर के माध्यम से पहुंचाया गया। फोर्टिस के आधिकारिक बयान में कहा गया, ‘हार्ट 3 बजकर 24 मिनट पर औरंगाबाद से निकलने के एक घंटे 34 मिनट बाद अस्पताल पहुंच गया। इसने कुल 323.5 किलोमीटर की दूरी तय की।’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें