बुराड़ी केस: अब डॉक्टरों ने कही हैरान कर देने वाली बात

0
4628

दिल्ली के बुराड़ी सामूहिक आत्महत्या मामले में रोज़ नए-नए खुलासे हो रहे है. जो खुलासे बेहद ही चौकाने वाले है. अब पुलिस परिवार की मानसिकता का पता लगाने के लिए शवों के मनोवैज्ञानिक पोस्टमॉर्टम कराने का फैसला किया है. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने यह जानकारी दी. हालांकि इस प्रकार का पोस्टमॉर्टम करने वाला चिकित्सक कौन होगा, अभी इस पर फैसला नहीं हुआ है. लेकिन जल्द ही इस क्रिया को अंजाम दिया जाएगा.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, मनोवैज्ञानिक पोस्टमॉर्टम एक ऐसा पोस्टमॉर्टम है जिसमें परिवार के जीवित सदस्यों की मानसिकता और मृतक की दिमागी हालत की मैपिंग की जाती है. पुलिस आंच में घटनास्थल से बरामद कागजों से ‘वट तपस्या ’ का अभ्यास करने की बात सामने आई है, जिसमें लोग बरगद का पेड़ और उसकी टहनियां बनने की कोशिश करते हैं.

IMAGE CREDIT: NAVBHARAT TIMES

इसलिए अब पूरी बात का खुलासा करने के लिए विशेषज्ञ मृतकों की मानसिकता के बारे में जानने का प्रयास करेंगे. ताकि 11 लोगों की सामूहिक आत्महत्या या मौत का पता लगाया जा सके. साथ ही आपको बता दें की घर से डायरी मिली है उससे यह इशारा मिला है कि यह सब काम घर से आत्मा को बाहर निकालने के लिए किया जा रहा था.

 

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें