UAE: भारतीय प्रवासियों को देश से निकालने की मिल रही धमकियां

0
256

खलीज टाइम्स की रिपोर्ट , संयुक्त अरब अमीरात (UAE) में भारतीय प्रवासियों को फर्ज़ी फ़ोन कॉल करके देश से निकालने की धमकी दी जा रही है.

दुबई आव्रजन अधिकारियों के रूप में प्रस्तुत स्कैमर, भारतीय प्रवासियों को फ़ोन कॉल करते है और अनुरोध करते हैं कि वे बड़ी मात्रा में रकम देनी होगी वरना उन्हें देश से निकाल दिया जाएगा. यह ठगी भारतियों रेजीडेंसी और विदेश मामलों के सामान्य निदेशालय (जीडीआरएफए) द्वारा प्रदान की गई अपनी पहचान संख्या को सत्यापित करने के लिए कहा जाता है और फिर कहा जाता है कि अगर वह ऐसा नहीं करते है तो उन्हें देश से निकालने की धमकी दी जाती है.

“एक अज्ञात भारतीय प्रवासी ने कहा, “यह एक घंटे लंबी कॉल थी, और तीन या चार पुरुष थे जो मुझसे बात कर रहे थे. उन्होंने कहा कि मेरी फाइल से कुछ इमिग्रेशन पेपर गायब थे और उनके पास तुरंत मुझे निर्वासित करने का आदेश डे दिया. वे वास्तव में कठोर और डरावनी तरीके से बोलने वाले सुरक्षा अधिकारियों की तरह लग रहे थे, और मैं वास्तव में डर गया.

“उन्होंने कहा कि मैं इमिग्रेशन लॉ के अनुच्छेद संख्या 18 के अनुसार उन्हें ब्लैकलिस्ट किया गया है और मुझे अनुच्छेद संख्या 20 के तहत अमीरात से निर्वासित कर दिया जाएगा और दिल्ली में गिरफ्तार कर लिया जाएगा. ठगों ने आगे कहा की निर्वासन से बचने का एकमात्र तरीका है एक वकील को किराए पर लेने और भारतीय अधिकारियों से निकासी पत्र प्राप्त करने के लिए 1,800 दिरहम [$ 490] का भुगतान करें.”

गल्फ न्यूज़ के मुताबिक, अन्य भारतीय प्रवासी से 4,500 दिरहम (1,224 डॉलर) की ठगी की गयी. जबकि एक भारतीय महिला ने दावा किया कि ठगों ने चरमपंथी संगठनों के साथ आतंकवादी होने का आरोप लगाया गया.

आपको बता दें की संयुक्त अरब अमीरात में दो मिलियन से ज्यादा भारतीय प्रवासी रहते है.