होटल मामले में दोषी पाए गए मेजर गोगोई, आर्मी ने की ये कार्रवाई

0
139

बीते 23 मई को श्रीनगर के खनयार इलाके में स्थित होटल में एक नाबालिग लड़की के साथ रंगे हाथों गिरफ्तार हुए मेजर लितुल गोगोई कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी में दोषी पाए गए है। उन्हे अब आर्मी ने उनकी इकाई से हटाकर स्थानीय फॉर्मेशन मुख्यालय भेज दिया है।

सेना की तरफ से पिछले महीने सीओआई गठित की गई थी। जिसने 53 राष्ट्रीय राइफल्स के अधिकारी गोगोई को दो मामलों में दोषी पाया – पहला निर्देश के बावजूद स्थानीय महिला के साथ “दोस्ती करना” और “अभियान वाले इलाके में होने के बावजूद ड्यूटी से दूर रहना।” इसने उनके खिलाफ समरी ऑफ एविडेंस की अनुशंसा की। कोर्ट मार्शल की प्रक्रिया शुरू किए जाने से पहले का यह कदम होता है।

अधिकारियों ने बताया कि गोगोई को बडगाम में उनकी इकाई से हटा दिया गया है और अवंतीपुरा में विक्टर फोर्स मुख्यालय से उन्हें ‘संबद्ध’ कर दिया गया है। बता दें कि मेजर गोगोई आरोप है कि वह होटल में एक नाबालिग लड़की के साथ रात बिताना चाहते थे। लेकिन होटल ने इजाजत नहीं दी। जिसके बाद उनकी होटल कर्मचारियों के साथ हाथापाई भी हुई थी।

इस मामले में स्थानीय अदालत भी राज्य पुलिस को मामले की गहन जांच करने और 18 सितंबर तक अदालत में रिपोर्ट जमा कराने का निर्देश दे चुकी है। सीजेएम ने अपने आदेश में कहा था, पुलिस ने मामले की जांच करने के बजाय उसे निपटाने पर जोर दिया है। सभी तथ्यों को जांच में शामिल नहीं किया है।

गौर हो कि इससे पहले पिछले साल 9 अप्रैल को कश्मीर में पत्थरबाजों से बचने के लिए एक शख्स को गाड़ी की बोनट से बांधने के बाद गोगोई सुर्खियों में आए थे। तब उन्हें सम्मानित किया गया था।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें