मुस्लिम फोरम ने प्रधानमन्त्री जन आरोग्य योजना का स्वागत किया

0
51
अलीगढ़। फोरम फॉर मुस्लिम स्टैडीज एण्ड एनालिसिस ने प्रधानमन्त्री जन आरोग्य योजना का स्वागत करते हुए कहा है कि प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी ने उक्त योजना लागू करके देश मे स्वास्थ्य क्रान्ति आरम्भ की है जिसका लाभ ग्रामीण क्षेत्रों में वचिंत वर्ग को मिलेगा और स्वस्थ भारत का नव निर्माण होगा।
प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी ने देश और समाज के सबसे निचले वर्ग के स्वास्थ्य के लिए प्रधानमन्त्री जन आरोग्य योजना लागू करके एक एतिहासिक कदम उठाया है जिसके अर्न्तगत प्रति वर्ष प्रत्येक परिवार को पाँच लाख रूपये के स्वास्थ बीमा का आश्वासन दिया गया है। इसमें देश में 50 करोड़ से आधिक लोगों को लाभ होगा। उक्त बाते डॉ0 फारूक अली ने फोरम फॉर मुस्लिम स्टैडीज एण्ड एनालिसिस द्वारा मीडिया सेन्टर अलीगढ़ पर अयोजित एक चिन्तक बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहीं। उन्होंने कहा कि यह विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना साबित होगी।
 
मुस्लिम फोरम के डायरेक्टर डॉ0 जसीम मोहम्मद ने कहा कि सर्वाधिक महत्वपूर्ण यह है कि उक्त योजना में कैंसर और हृदय रोग जैसी गम्भीर बीमारियों सहित 1300 बीमारियों शामिल है। केवल यही नहीं निजि अस्पतालों को भी इस योजना में शामिल किया गया है। उन्होंने कहा कि पूर्व में किसी भी प्रधानमन्त्री ने ग्रामीण क्षेत्रों मे गरीब लोगों के स्वास्थ के लिए इस प्रकार की क्रान्तिकारी योजना नहीं की और प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी ने इस समय देश मे एक स्वास्थ क्रान्ति को जन्म दिया है। योजना का सबसे सकारात्मक पहलू यह है कि कोई भी 14555 नम्बर डायल करके या सेवा केन्द्र के माध्यम से योजना के बारे मे विस्तार से जानकारी ले सकता है। डॉ0 जसीम मोहम्मद ने कहा कि योजना से स्वस्थ भारत का निर्माण होगा।
 
समाजसेवी निकहत परवीन ने कहा कि प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी द्वारा जारी उपरोक्त योजना देश मे 2300 केन्द्रों पर सेवाये देगी और आने वाले चार वर्षों में केन्द्रों की संख्या 105 लाख होगा होगी लिहाजा पूरे देश को इससे लाभ होगा। डॉ0 कपिल कुमार ने कहा कि इस योजना से लोगों की जेब से अस्पताल होने वाले खर्चों पर कमी आएगी तथा गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ सेवाये प्राप्त होगी।
 
डॉ0 ताबिन्दा परवीन ने कहा कि प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी का सपना था कि भारत मे बेहतर स्वास्थ है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि देश की पाँच राज्य सरकारो ने उपरोक्त योजना को लागू करने से इन्कार कर दिया है जिसके परिणाम स्वरूप वहाँ की जनता इस का लाभ नहीं उठा पायेगी।
 
बैठक के अन्त मे मुस्लिम फोरम ने प्रधानमन्त्री जन आरोग्य योजना जारी करने के लिए प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि सभी राज्यों को इस योजना को लागू करना चाहिए क्योंकि यह देश मे स्वास्थय क्रान्ति है और किसी भी राज्य की जनता को इससे वंचित नहीं रहना चाहिए।
बैठक मे बड़ी संख्या मे चिकित्सकों, समाजसेवियों तथा बुद्धिजीवियों के अलावा दिलशाद कुरैशी भी मुख्य रूप से उपस्थित थे।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें