हजारों किसान पहुंच रहे दिल्ली, सीमाएं सील कर धारा 144 लागू,

0
36

सोमवार को रात 2:30 बजे तक चली केंद्र के साथ बातचीत के फ़ेल हो जाने के बाद हजारों की संख्या में भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले आयोजित ‘किसान क्रांति पदयात्रा’ के तहत किसान दिल्ली का रुख कर रहे है। ये सभी किसान ऋण माफी, कम कीमत पर बिजली सहित 21 सूत्री मांग कर रहे हैं।

किसानों ने शर्त रखी है कि सरकार के प्रतिनिधि केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह बात करने मंगलवार को किसान घाट आएं। उन्होंने दिल्ली में घुसने पर रोक और धारा 144 हटाने की भी शर्त रखी। लखनऊ से हेलिकॉप्टर के द्वारा 2 आईएएस किसानों से मिलने के लिए रवाना हो चुके हैं। वे हेलिकॉप्टर से गाजियाबाद आ रहे हैं। इस दौरान ये भी सूचना मिल रही है कि किसानों की मुलाकात दोपहर 12 बजे गृहमंत्री से भी होगी।

इसी बीच भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष नरेश टिकैत ने कहा है कि हमें दिल्ली यूपी बॉर्डर पर रोक लिया गया है। हम अपनी मांगों को लेकर अनुशासित तरीके से मार्च निकाल रहे हैं। अगर हम अपनी सरकार से भी अपनी बात नहीं करेंगे तो और किससे करेंगे? क्या हमें पाकिस्तान और बांग्लादेश या पाकिस्तान चले जाना चाहिए?

वहीं पूर्वी दिल्ली में पुलिस उपायुक्त (पूर्व) पंकज सिंह ने दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के तहत आदेश जारी किया जो आठ अक्टूबर तक प्रभावी रहेगा। इस आदेश के अंतर्गत प्रीत विहार, जगतपुरी, शकरपुर, मधु विहार, गाजीपुर, मयूर विहार, मंडावली, पांडव नगर, कल्याणपुरी और न्यू अशोक नगर पुलिस थानाक्षेत्र आते हैं।

दिल्ली पुलिस, उत्तर प्रदेश पुलिस के भी संपर्क में है जिससे यह सुनिश्चित हो सके कि प्रदर्शनकारी किसान दिल्ली में प्रवेश न कर सकें। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘उन्होंने प्रदर्शन के लिये दिल्ली पुलिस से कोई इजाजत नहीं मांगी है’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें