सऊदी में भारतीय प्रवासियों ने घर भेजे जाने वाले धन में की वृद्धि, सामने आई बड़ी वजह

0
138

जेद्दाह – एशियाई प्रवासी डॉलर के खिलाफ कई मुद्राओं में भारी गिरावट से लाभ उठाने के लिए अपने घर भेजे जाने धन में इज़ाफ़ा किया है. भारतीय रुपया ने डॉलर के मुकाबले रिकॉर्ड कम किया है.

भारतीय रुपया सोमवार को सऊदी रियाल और पेसो 14.42 के खिलाफ 19.41 के नए निचले स्तर पर गिर गया, जिससे भारत और फिलिपीन जैसे देशों के पैसे को स्थानांतरित करने के लिए प्रेरित किया गया.

सऊदी गेजेट के मुताबिक, हाल के महीनों में घर भेजे जाने वाले धन में भी बढ़ोतरी हुयी है, क्योंकि कई विदेशी श्रमिक  फाइनल एग्जिट वीजा पर चले गए हैं और कई ने उच्च फमिली टैक्स के संदर्भ में अपने परिवारों को घर भेज दिया है.

 

विडंबना यह है कि घर भेजे जाने वाली रकम का मूल्य हाल ही में बढ़ गया है क्योंकि कई प्रवासी घर को सेवा लाभ के अंत में भेज रहे हैं, लेकिन धन की आवृत्ति कम हो गई है क्योंकि कई प्रवासी श्रमिक, जिन्होंने नियमित रूप से अपनी कमाई घर भेज दी है, अच्छे से चले गए हैं.

भारतीय प्रवासी अरशद चिसतरी ने कहा कि कमजोर भारतीय रुपया कुछ भी फायदेमंद नहीं है क्योंकि मुद्रास्फीति अपने देश में बढ़ रही है. “हाँ, मेरे परिवार को अधिक पैसा मिलता है, लेकिन स्कूल फीस और दूध, बिजली और अन्य सामान में वृद्धि हुई है.”

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें