प्रणब मुखर्जी और रतन टाटा के बाद RSS के मंच पर होंगे नोबेल विजेता कैलाश सत्‍यार्थी

0
18

नोबेल पुरस्‍कार विजेता कैलाश सत्‍यार्थी राष्‍ट्रीय स्‍वयं सेवक संघ(आरएसएस) के विजयादश्‍मी के अवसर पर होने वाले कार्यक्रम में मुख्‍य अतिथि होंगे और आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के साथ मंच साझा करेंगे।

न्‍यूज एजेंसी पीटीआई के अनुसार, RSS ने सत्‍यार्थी को इसके लिए निमंत्रित किया था, जिसे नोबोल पुरस्‍कार विजेता ने स्‍वीकार कर लिया है। RSS के वरिष्‍ठ नेता मनमोहन वैद्य ने इसकी पुष्टि की है। इस बार संघ का विजयादशमी कार्यक्रम 18 अक्‍टूबर को आयोजित किया जाएगा। जो नागपुर के रेशमीबाग मैदान में होगा।

बता दें कि कैलाश सत्यार्थी को साल 2014 में शांति का नोबेल पुरस्कार दिया गया था। उन्हें देश में बच्चों को बाल श्रम से मुक्ति दिलाने के लिए जाना जाता है। आरएसएस हर साल विजयादशमी को अपने स्थापना दिवस के रूप में मनाता है। 1925 में विजयादशमी के दिन ही आरएसएस की स्थापना हुई थी।

इकनॉमिक टाइम्स के मुताबिक कैलाश सत्यार्थी की टीम ने इस बात की पुष्ट‍ि की है कि वे विजयादशमी के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए नागपुर जाएंगे। बीते साल संत निर्मल दास महाराज ने बतौर मुख्य अतिथि इस कार्यक्रम में हिस्सा लिया था। तब संघ प्रमुख मोहन भागवत ने जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद के अलावा गोरक्षा जैसे मुद्दों को लेकर अपना संबोधन दिया था।

इससे पहले इसी साल संघ के नागपुर मुख्यालय में आयोजित एक कार्यक्रम में देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने भी हिस्सा लिया था। हालांकि संघ के उस कार्यक्रम में प्रणब मुखर्जी के बतौर मुख्य अतिथि शामिल होने को लेकर कांग्रेस के कुछ नेताओं ने तब विरोध भी जताया था।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें