मरकजी मस्जिद फंडिंग मामला: एनआईए ने नूंह में मस्जिद निर्माण के रेकॉर्ड खंगाले

0
101

बीते दिनों दिल्ली से गिरफ्तार किए मोहम्मद सलमान के गांव उटावड़ स्थित मरकजी मस्जिद से संबंधों को लेकर बुधवार को एनआईए ने मस्जिद के निर्माण का रिकॉर्ड खंगाला। एनआईए को शक है कि मस्जिद निर्माण में विदेशों से लाया गया अवैध धन लगा है।

इस दौरान टीम ने सभी रजिस्टर चेक किए। चंदे के माध्यम से आई धनराशि व बैंक अकाउंट की जानकारी ली गई। इसके बाद ग्रामीणों, पूर्व सरपंचों व अन्य लोगों से पूछताछ कर उनके बयान दर्ज किए। सरपंच युनुस, पूर्व सरपंच अख्तर हुसैन, आस मोहम्मद, खालिद व अन्य ग्रामीणों ने कहा कि टेरर फंडिंग से इस मस्जिद का कोई लेना देना नहीं है।

उन्होने बताया कि आसपास के 84 गांवों के लोगों ने मिलकर चंदा देकर मस्जिद का निर्माण कराया। निर्माण कार्य वर्ष 2010 में शुरू हुआ था। इसका कुछ रेकॉर्ड उपलब्ध है। उन्होंने बताया कि इलाके के लोगों ने निर्माण में श्रमदान के साथ, ईंट, सीमेंट व अन्य निर्माण सामग्री भी दान की थी।

लोगों ने सलमान को निर्दोष बताते हुए कहा उसने गांव में 20 कन्याओं के सामूहिक विवाह कराए हैं। उन्होंने पूछा कि सलमान की गिरफ्तारी किन कारणों से हुई है, लेकिन टीम बिना जवाब दिए लौट गई।

बता दें कि मूल रूप से उटावड़ निवासी मोहम्मद सलमान व उसके दो अन्य साथियों को राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी की टीम ने विदेशी फंडिंग मामले में कई दिन पूर्व दिल्ली से गिरफ्तार किया था। आरोप है कि दिल्ली के निजामुद्दीन में रहने वाला मोहम्मद सलमान उटावड़ का रहने वाला है। उसकी देखरेख में ही उटावड़ गांव के मोड़ पर इस मस्जिद का निर्माण कार्य चल रहा है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें