नाना पाटेकर को लेकर सरकार का रवैया पक्षपातपूर्ण नहीं: केसरकर

0
44

महाराष्ट्र के मंत्री दीपक केसरकर ने गुरुवार को कहा है कि अगर तनुश्री दत्ता ने नाना पाटेकर के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई होगी तो इसकी निष्पक्ष जांच कराई जाएगी।

गृह राज्य मंत्री (ग्रामीण) केसरकर ने जोर देकर कहा कि नाना पाटेकर को लेकर सरकार का रवैया पक्षपातपूर्ण नहीं है। शिवसेना के मंत्री ने बुधवार को कहा कि पाटेकर एक ‘महान व्यक्तित्व’ हैं, जिन्होंने राज्य के लिए बहुत किया है। उन्होंने सवाल किया कि दत्ता ने पिछले 10 सालों में पुलिस में शिकायत क्यों नहीं दर्ज कराई थी।

गुरुवार को केसरकर ने कहा, ‘जब एक आधिकारिक शिकायत दर्ज कराई जाएगी, पुलिस मामले की पारदर्शिता से जांच कर पाएगी ताकि दोनों पक्षों के साथ न्याय हो सके।’ उन्होंने कहा कि राज्य सरकार किसी के प्रति पूर्वाग्रह नहीं रखती है और कानून के समक्ष सब समान हैं।

इस मामले में अभिनेत्री काजोल की भी प्रतिक्रिया भी सामने आई है। काजोल का कहना है कि ये हकीकत है, लेकिन उन्होंने कभी इसे अपने सामने नहीं देखा। सिर्फ अफवाह ही सुनी है। किसी ने अभी तक इसे स्वीकार भी नहीं किया क‍ि उसने ये सब किया है।

अपनी फिल्म हैलीकॉप्टर ईला के प्रमोशन के दौरान एनडीटीवी से कहा, “मैंने कास्ट‍िंग काउच के बारे में सुना बहुत है, लेकिन कभी इंडस्ट्री में इसका सामना नहीं किया। ये सब चिंताजनक है। दुखद है कि तनुश्री को इस सबसे गुजरना पड़ा। यदि ये सब मेरे सामने होता तो जरूर खड़ी होती या कुछ करती।”

बता दें कि तनुश्री ने नाना पाटेकर पर शूटिंग के दौरान बछेड़छाड़ का आरोप लगाया है। उन्होंने 2008 में एक फिल्म की शूटिंग के दौरान नाना पर अपने साथ जोर जबरदस्ती की कोशिश का आरोप लगाते हुए कहा, ”नाना पाटेकर जबरन करीब आना चाहते थे, वे शूटिंग के दौरान गाने का हिस्‍सा नहीं थे, बावजूद उन्‍होंने उनके साथ इंटीमेट होने की कोशिश की।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें