अमेरिका की पाबंदियों की धमकी पर बोले आर्मी चीफ – भारत अपनी स्वतंत्र नीति पर चलेगा

0
27

रूस के साथ एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम के सौदे के कारण अमेरिका की और से मिल रही पाबंदियों की धमकी पर सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहा कि भारत अपनी स्वतंत्र नीति पर चलता रहेगा। आर्मी चीफ ने ये भी बताया कि भारत रूस से कामोव हेलिकॉप्ट और दूसरे हथियार भी लेने का इच्छुक है।

बता दें कि रूस के साथ शु्क्रवार को एस- 400 ट्राइम्फ हवाई रक्षा प्रणाली खरीदने को लेकर अमेरिका पहले ही भारत को प्रतिबंध लगाने की धमकी दे चुका है। ऐसे में शनिवार की रात को ही रूस की छह दिवसीय यात्रा से लौटे रावत ने कहा कि रूसी भारतीय सेना और सुरक्षा बलों से जुड़ने के लिए बेहद आतुर हैं। क्योंकि वह यह बात समझते हैं कि हमारी सेना बेहद सशक्त है। इसलिए वह यह समझने में भी सक्षम हैं कि हमारी रणनीतिक प्रक्रिया के आधार पर हमारे लिए क्या उचित है।

उन्होंने कहा कि भारत रूस से कामोव हेलीकॉप्टर और अन्य शस्त्र प्रणालियां व तकनीके भी लेने के लिए उत्साहित है। भारत रूस से अंतरिक्ष आधारित प्रणाली और तकनीक भी हासिल करेगा। हम और किस-किस तरह से सहयोग कर सकते हैं, इस विचार का कोई अंत ही नहीं है। हम उसी दिशा में आगे बढ़ेंगे जो देश के लिए सर्वश्रेष्ठ है। सामरिक रूप से वही हमारे लिए महत्वपूर्ण है।

सेना प्रमुख ने जनरल केवी कृष्ण राव मेमोरियल लेक्चर के दौरान बताया कि उनके रूस दौरे के समय एक रूसी नौसैनिक अफसर ने उनसे पूछा था कि ऐसा लगता है कि भारत पश्चिम में अमेरिका की ओर रुख कर रहा है जिसने रूस पर प्रतिबंध लगाए हैं। अमेरिका ने रूस से सौदा करने पर भारत पर भी प्रतिबंध लगाने की धमकी दी है। इसके जवाब में भारतीय सेना प्रमुख जनरल रावत ने कहा कि हम मानते हैं कि हम पर प्रतिबंध लग सकते हैं, लेकिन हम एक स्वतंत्र नीति का पालन करते हैं।

रावत ने अमेरिका के साथ भारत के बढ़ते संबंध पर रूस की चिंता यह कहते हुए दूर करने का प्रयास किया, ‘‘आप आश्वस्त रहिए कि जब हम कुछ प्रौद्योगिकी हासिल करने के लिए अमेरिका के साथ हाथ मिला रहे होते हैं तो हम स्वतंत्र नीति पर चलते हैं। ’’

सेना प्रमुख ने कहा, ‘‘मैंने उनसे कहा, जब हम पाबंदियों पर बात कर रहे हैं और आप पाबंदियों पर सवाल खड़ा कर रहे हैं तब राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस तथ्य के बावजूद एस-400 हथियार प्रणाली की खरीद को लेकर संधि पर दस्तखत कर रहे हैं कि हमें भविष्य में अमेरिकी चुनौतियों से दो-चार होना पड़ सकता है।’’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें