गुजरात में उत्तर भारतीयों पर हमले, वाराणसी में लगे – मोदी बनारस छोड़ो’ के पोस्टर

0
86

गुजरात में हिंदी भाषी लोगों पर हो रहे हमलों का उत्तर प्रदेश में विरोध होना शुरू हो गया है। इस विरोध की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से हुई है।

जानकारी के अनुसार, वाराणसी शहर में पीएम मोदी के खिलाफ पोस्टर लगे हैं। पोस्टर में लिखा है, ‘गुजराती नरेंद्र मोदी वाराणसी छोड़ो’। यह पोस्टर ‘यूपी बिहार एकता मंच’ की तरफ से शहर में लगवाए गए हैं। यूपी-बिहार एकता मंच द्वारा लगाए गए पोस्टर में चेतावनी- ‘बनारस में निवास कर रहे समस्त गुजरातियों और महाराष्ट्र के लोगों से अपील है कि एक सप्ताह के अंदर बनारस छोड़कर चले जाएं, वरना अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहें।

यूपी बिहार एकता मंच का नेतृत्व कर रहे अध्यक्ष विश्वनाथ कुंवर ने कहा, “गुजराती और मराठी लोगों से अपील है कि हिंदी भाषी लोगों पर अत्याचार बंद करें। दोनों राज्य में बीजेपी की सरकार होने के बावजूद कोई सुध नहीं लेने वाला है। उन्होंने कहा, काशी के लोगों ने गुजराती नरेंद्र मोदी को गले लगाया। यहां से जिताया। लेकिन उनके गृहराज्य में ही हमारे साथ भेदभाव हो रहा है।”

कुंवर ने आगे कहा, “पीएम मोदी मामले को संज्ञान में लेते हुए कड़ी कार्यवाई करें। अगर ऐसा नहीं होता है तो हम गुजरातियों और मराराष्ट्र के लोगों को पलायन करने पर मजबूर कर देंगे।” बता दें कि गुजरात के साबरकांठा जिले में एक बच्ची के साथ हुए दुष्क*र्म के बाद यूपी-बिहार के लोगों पर हमले के कारण उनका पलायन जारी है।

इस मामले में राज्य के अलग-अलग हिस्सों से पुलिस ने अब तक 450 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस महानिदेशक शिवानंद झा ने मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘‘मुख्य रूप से 6 जिले हिंसा से प्रभावित हुए हैं। मेहसाणा और साबरकांठा सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं। इन जिलों में 42 मामले दर्ज किए गए हैं।’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें