1,000 से ज्यादा अंक लुढ़का सेंसेक्स, 5 मिनट में निवेशकों 4 लाख करोड़ रुपये डूबे

0
48

शेयर बाजार गुरुवार को भारी गिरावट के साथ खुला। मार्केट खुलते ही सेंसेक्स 1000 से ज्यादा अंक लुढ़क गया। सुबह 9:22 बजे पर सेंसेक्स 33,759.58 पर पहुंच गया था। वहीं निफ्टी भी 321 अंक से ज्यादा टूटा और 10,138.60 पर पहुंच गया। इसका असर निवेशकों की संपत्ति पर पड़ा और महज 5 मिनट में 4 लाख करोड़ रुपये बाजार से बाहर हो गए।

आंकड़ों से पता चलता है कि शुरुआती कारोबार में बीएसई में लिस्टेड कंपनियों का कुल मार्केट कैपिटलाइजेशन या मार्केट कैप (बाजार पूंजीकरण) 134.38 लाख करोड़ रुपये घट गए। बुधवार को इन कंपनियों का कुल मार्केट कैप 1 करोड़ 38 लाख 39 हजार 750 करोड़ रुपये था। ध्यान रहे कि 30 अगस्त को इन कंपनियों का मार्केट कैप 1 करोड़ 59 लाख 34 हजार 696 करोड़ के सर्वकालिक स्तर पर पहुंच गया था।

वहीं डॉलर के मुकाबले रुपए में गिरावट का दौर जारी है। गुरुवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 74.45 के रिकॉर्ड निचले स्तर पर पहुंच गया। मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में भी बिकवाली दिख रही है। बीएसई का मिडकैप इंडेक्स 3.3 फीसदी गिरा है, जबकि निफ्टी के मिडकैप 100 इंडेक्स में 3.3 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। बीएसई का स्मॉलकैप इंडेक्स करीब 3 फीसदी लुढ़का है।

इस दौरान सेंसेक्स पर ऐक्सिस बैंक के शेयर 4.91%, वेदांता 4.15%, एसबीआई 4.05%, टाटा स्टील 3.63%, भारती एयरटेल 3.37%, मारुति 3.18%, आईसीआईसीआई बैंक 3.15% और रिलायंस 3.13% तक टूट गए. वहीं, निफ्टी पर इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनैंस के शेयरों में 7.49%, बजाज फाइनैंस 6.82%, बजाज फाइनैंशल सर्विसेज 5.71%, ऐक्सिस बैंक 4.90% और आइशर मोटर्स के शेयरों में 4.80% की गिरावट दर्ज की गई।

अमेरिकी शेयर बाजार की गिरावट का असर सभी एशियाई बाजारों पर पड़ा है। जापान का इंडेक्स निक्केई गुरुवार को 3.41% गिर गया। हॉन्ग कॉन्ग का हेंगसेंग 3.53% लुढ़क गया। सिंगापुर के बाजार में 2.64% गिरावट आई। बुधवार को अमेरिकी डाओ जोंस 3.15% की गिरावट के साथ बंद हुआ। यह फरवरी 2018 के बाद सबसे बड़ी गिरावट है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें