ट्रंप ने रूस से रक्षा सौदे और ईरान से तेल लेने पर भारत को धमकाया

0
99

वाशिंगटन. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने 4 नवंबर तक ईरान से तेल का इम्पोर्ट बंद नहीं करने वाले देशों को ‘देख लेने’ की धमकी दी है। साथ ही ट्रंप ने कहा है कि रूस से पांच अरब डॉलर में एस-400 हवाई रक्षा प्रणाली खरीदने के सौदे पर भारत के खिलाफ अमेरिकी कानून के तहत दंडात्मक कार्रवाई होती है या नहीं इसके बारे में जल्द स्थिति स्पष्ट हो जाएगी।

भारत और रूस के बीच हुए सौदे के बारे में पूछे जाने पर ट्रंप ने बुधवार को कहा, ‘भारत को पता चल जाएगा।’ जब ट्रंप से पूछा गया कि कब पता चलेगा तो उन्होंने कहा, ‘आप देखेंगे। आप जितना सोच रहे हैं उससे पहले।’ ट्रंप जब भारत पर प्रतिबंध से जुड़े सवालों का जवाब दे रहे थे तो उस समय अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो भी कमरे में मौजूद थे।

साथ ही ट्रंप ने कहा कि 4 नवंबर तक ईरान से कच्चे तेल का आयात घटाकर शून्य नहीं करने वाले ‘देशों को भी अमेरिका देखेगा’। भारत और चीन जैसे देशों के ईरान से तेल आयात जारी रखने के बारे में पूछे जाने पर ट्रंप ने कहा, ‘हम उन्हें भी देखेंगे’

बता दें कि तेल मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने सोमवार को कहा था कि दो कंपनियों ने ईरान से तेल के इम्पोर्ट के लिए ऑर्डर जारी किया है। उन्होंने कहा था कि भारत की अपनी ऊर्जा जरूरतें हैं, जिन्हें पूरा करना है। इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (IOC) और मंगलोर रिफाइनरी एंड पेट्रोकेमिकल्स लि. (MRPL) मिलकर ईरान को 12.5 लाख टन क्रूड ऑयल खरीदने का ऑर्डर जारी किया है।

4 नवंबर से ईरान पर नए प्रतिबंध लागू हो जाएंगे, जिनसे ऑयल और शिपिंग सेक्टर के साथ ही उसके सेंट्रल बैंक को भी झटका लगेगा। ट्रम्प  ने इस साल मई में ईरान के साथ 2015 में हुई न्यूक्लियर डील से पीछे हटते हुए कहा था, ‘यह डील ईरान के न्यूक्लियर बम बनाने के सभी रास्ते रोकने में नाकाम रही है’ और ईरान ने अपने बैलिस्टिक मिसाइल प्रोग्राम और आतंकवाद को सपोर्ट को भी बंद नहीं किया है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें