एएमयू छात्र मन्नान का एनका*उंटर, महबूबा ने कहा – ‘हम रोज शिक्षित युवाओं को खो रहे’

0
53

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के रिसर्च स्कालर से कथित तौर पर हिजबुल मुजाहिदीन बने मन्नान बशीर वानी को जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में स्थित हंदवाड़ा इलाके में गुरुवार को एक मुठभेड़ के दौरान सुरक्षाबलों ने मा*र गिराया।

इस मामले जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और  पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने कहा है कि मन्नान की मौ*त हमारी क्षति है। मुफ्ती ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘आज एक पीएचडी छात्र ने जिंदगी की जगह मौ*त को चुना और एक मुठभेड़ में मा*रा गया। उसकी मौत हमारी ही क्षति है क्योंकि हम प्रतिदिन युवा शिक्षित लड़कों को खो रहे हैं।’

अपने दूसरे ट्वीट में महबूबा मुफ्ती ने लिखा, ‘यह अत्यंत नाजुक समय है और ऐसे में देश के सभी राजनीतिक दलों को इस स्थिति की गंभीरता को समझना चाहिए और इस खू*नखराबे को समाप्त करने के लिए पाकिस्तान समेत इसके सभी हितधारकों के साथ बातचीत कर इसका हल निकालने की कोशिश करनी चाहिए।’

वहीं महबूबा मुफ्ती के बयान का बीजेपी ने कड़ा विरोध किया है। जम्मू-कश्मीर के पूर्व उपमुख्यमंत्री कविंद्र गुप्ता ने कहा कि महबूबा निराश हैं। एक आतंकी की मौ*त पर उनका इस तरह शोक जताना राष्ट्र विरोधी तत्वों को खुश करने की कवायद है।

बता दें कि मन्नान वानी अलीगढ़ मुस्लिम युनिवर्सिटी में जियॉलजी से पीएचडी का छात्र था। पिछले हफ्ते सोशल मीडिया पर एके-47 के साथ उसकी एक तस्वीर साझा हुई थी जिसके कैप्शन में उसके ‘ऐटिवेशन डेट’ के तौर पर 5 जनवरी लिखा था। जिसके बाद से उसके हिज्बुल मुजाहिदीन में शामिल होने का अंदेशा जताया जा रहा था।

मन्नान वानी तीन जनवरी से लापता था। मन्नान की तस्वीर सामने आने के बाद यूनिवर्सिटी प्रशासन ने मन्नान को निलंबित कर दिया था।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें