गौरक्षकों के चलते मुस्लिम गोपालक बेच रहे अपनी गाय

0
39

पश्चिम उत्तर प्रदेश में गोरक्षकों की बढ़ती हिंसा ने मुस्लिम गोपालकों में खौफ है. जिसके चलते उन्होने अपनी गायों को बेचना शुरू कर दिया है. हिन्दुस्तान टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक मेरठ में मुसलमानों ने तेजी से गायों को बेचना शुरू कर दिया है.

मुस्लिम लीडर बदर-उल-इस्लाम ने हिन्दुस्तान टाइम्स से यूपी में योगी आदित्यनाथ की सरकार बनने के बाद उन्होने खुद अपनी दो गायें बेच दीं. इस्लाम ने कहा” हवा पूरी तरह बदली हुई है. मैं कोई जोखिम मोल नहीं लेना चाहता था इसलिए दोनों गायें बेच दीं. गायों से मुझे बेहद प्रेम है. मैंने कई गायें पाली थीं. बच्चों और बड़ों के लिए गाय के दूध की अहमियत देखते हुए मैंने गायें पाली थीं.. लेकिन मन मसोसकर बेचना पड़ा.

मेरठ से 60 किलोमीटर दूर बहुल सौंदत गांव के मुखिया कलवा ने कहा कि उसके परिवार में हमेशा गाय-भैंसे दूध के लिए पाली जाती रही हैं. लेकिन राज्य में बीजेपी के सत्ता में आने के बाद उसने अपनी गायें एक दूधिये को बेच दी.

कलवा का कहना है कि पिछले दो साल में गांव वालों ने 200 गाएं और बैल बेच दिए हैं. गांव वालों को डर है कि उन्हें गलत केस में न फंसा दिया जाए.जिन लोगों के पास गायें हैं वे भी उसे चरने के लिए बाहर नहीं छोड़ रहे हैं कि कहीं गोरक्षकों की नजर में न चढ़ जाएं.

एक और ग्रामीण शमशाद ने कहा कि उसकी गाएं बीमार हैं. लेकिन वह उन्हें लेकर डॉक्टर के पास नहीं जा सकता. किसी भी तरह के खतरे से बचने के लिए वह वेटनरी डॉक्टर को अपने घर में ही बुलाना पसंद करेंगे. उनके साथी सलीम कहना है कि आखिर गायों की वजह से मुसीबत क्यों मोल ली जाए. जो लोग कहते हैं गाय हमारी माता है, वे उनके साथ खुश रहें.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें