हनुमान की जाति के बाद अब बीजेपी नेता ने राम को बताया ‘वैश्य’

0
80

हनुमान की जाति निर्धारण में बीजेपी नेताओं ने कोई कमी नहीं रखी है। अब ये जाति बताने का सिलसिला राम तक पहुंच चुका है। मेरठ में बीजेपी व्यापार प्रकोष्ठ के नेता विनीत अग्रवाल ने कहा कि भगवान राम और हनुमान वैश्य समाज से थे।

बता दें कि सीएम योगी ने पिछले वर्ष 27 नवंबर को राजस्थान के अलवर में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए हनुमान जी को दलित समुदाय का बताया था। उसके बाद यूपी सरकार के दर्जा प्राप्त मंत्री रघुराज सिंह ने हनुमान को ठाकुर करार दिया था। फिर लोकदल अध्यक्ष सुनील सिंह ने हनुमान को किसान बताया था।

यूपी सरकार में धार्मिक कार्य मंत्री लक्ष्मी नारायाण चौधरी ने हनुमान जी को जाट बताया था। इसे साबित करने के लिए उन्होंने अजीब तर्क दिया था जिसमें कहा था कि जो दूसरों के फटे में टांग अड़ाए, वही जाट है। बीजेपी एमएलसी बुक्कल नवाब ने हनुमान को मुसलमान बताया था।

वहीं, राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष नंद कुमार साय ने हनुमान को आदिवासी बताया था। बीजेपी से नाता तोड़ने वाली बहराइच की सांसद सावित्री बाई फुले ने विवादित बयान देते हुए कहा था कि भगवान हनुमान मनुवादी लोगों के गुलाम थे। पूर्व क्रिकेटर कीर्ति आजाद ने हनुमान जी को चीनी बता दिया था। उन्होंने कहा था कि हनुमान न तो मुसलमान थे, न जाट और न ही दलित, वह तो भारतीय भी नहीं थे, वह चीन से आए थे।

वहीं, पूर्व क्रिकेटर और यूपी के कैबिनेट मंत्री चेतन चौहान ने भी पिछले दिनों हनुमान जी को लेकर बड़ा बयान दिया। उन्होंने हालांकि हनुमान जी की जाति नहीं बताई लेकिन उन्हें पहलवान करार दिया था।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें