गोवा: पर्रिकर के बचने की कोई संभावना नहीं, नया CM तलाशने के लिए अमित शाह ने भेजी टीम

0
73

पणजी. गोवा के डिप्टी स्पीकर माइकल लोबो ने कहा कि राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की हालत बेहद खराब है और उनके बचने की उम्मीद नहीं है। उन्होंने भाजपा की बैठक के बाद कहा कि जब तक पर्रिकर हैं, तब तक गोवा में लीडरशिप में कोई बदलाव नहीं किया जाएगा।

इस बीच कांग्रेस ने राज्यपाल को चिट्ठी लिखकर गोवा में सरकार बनाने का दावा पेश किया है। पार्टी का कहना है कि विधायक फ्रांसिस डिसूजा के निधन के बाद से विधानसभा में बीजेपी के 13 विधायक हैं। मनोहर पर्रिकर के नेतृत्व वाली सरकार के पास बहुमत नहीं है, जो पार्टी अल्पमत में है उसको सरकार में रहने का कोई हक नहीं है। कांग्रेस के इस दावे के बाद शनिवार को बीजेपी ने इमरजेंसी मीटिंग बुलाई, जिसमें मौजूदा राजनीतिक संकट पर चर्चा हुई।

लोबो ने कहा- बैठक में किसी ने भी लीडरशिप में बदलाव की मांग नहीं की है। हम पर्रिकर के जल्द स्वस्थ होने की कामना कर रहे हैं, लेकिन उनके बचने की उम्मीद बेहद कम है, क्योंकि वे बेहद बीमार चल रहे हैं। लेकिन, अगर कुछ होता है तो लीडरशिप में जो भी बदलाव होगा, वह भाजपा से होगा।

उन्होंने कहा कि पर्रिकरजी शुक्रवार रात बेहद बीमार हो गए थे, ऐसे में भाजपा ने इमरजेंसी मीटिंग बुलाई थी। डॉक्टरों को पर्रिकर की हालत में कोई सुधार नजर नहीं आ रहा है और वे रिकवरी नहीं कर पा रहे हैं। तीन विधानसभाओं में होने वाले उप-चुनाव नजदीक हैं और इनके लिए उम्मीदवारों का चयन भी किया जाना था।

सूत्रों का यह भी कहना है कि राजनीतिक संकट को खत्म करने के लिए बीजेपी नेतृत्व केंद्रीय सड़क व परिवहन मंत्री नितिन गडकरी को गोवा भेज सकती है। गडकरी पिछले चुनाव में बीजेपी प्रभारी थे। हालांकि, बीजेपी ने गडकरी के गोवा जाने को लेकर आधिकारिक तौर पर अभी कुछ नहीं कहा है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें