FB पोस्ट को लेकर सवर्ण समुदाय के 200 लोगों ने दलित के घर पर किया हम’ला

0
123

वडोदराः गुजरात के वडोदरा जिले के पाद्रा तालुका में स्थित महुवड गांव में एक फेसबुक पोस्ट को लेकर कथित तौर पर उच्च जाति के 200 से 300 लोगों की भीड़ के एक दलित दंपति के घर पर हमला करने का मामला सामने आया है।

आरोप है कि गांव में रहने वाले पीड़ित शख्स ने फेसबुक पोस्ट के जरिए सरकार पर सवाल उठाए थे। सोशल मीडिया पर उसने लिखा था कि सरकार गांव के मंदिर में दलितों को शादी समारोह करने की इजाजत नहीं देती है, जबकि पीड़ित पक्ष की शिकायत पर पुलिस ने इस मामले में 11 लोगों और उस अज्ञात भीड़ के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है। वहीं, एफबी पोस्ट करने वाले शख्स पर विभिन्न समुदायों के बीच वैमनस्य की भावना फैलाने का आरोप लगा है।

46 वर्षीय तारुलताबेन मकवाना नाम की दलित महिला ने भीड़ द्वारा घर पर हमला करने, पथराव करने, पति प्रवीण मकवाना की पिटाई करने और धमकाने को लेकर वाडु पुलिस स्टेशन में 11 लोगों और अज्ञात लोगों की भीड़ के ख़िलाफ़ 23 मई को एफआईआर दर्ज कराई है।

एफआईआर में जिन 11 लोगों के नाम दर्ज हैं, वे चैतन्य सिंह झाला, मयूर सिंह झाला, महेश जाधव, दिलीप सिंह राजपूत, संजय सिंह परमार, अर्जुन परमार, नरेश परमार, अरविंद परमार, दिलीप परमार, किशन परमार और अजय परमार हैं, जो सभी माहुवड के रहने वाले हैं।

तारुलताबेन ने अपनी शिकायत में कहा कि छड़ी, डंडे, पाइप और अन्य हथियार लिए लोग उनके घर पर पहुंचे और हमें गालियां देनी शुरू कर दीं। जैसे ही मैं घर से बाहर निकली, मुझे लोगों ने थप्पड़ मारे। पुलिस ने कहा कि यह घटना 20 मई की है, लेकिन दोनों समुदायों के बीच समझौता नहीं होने के बाद महिला ने गुरुवार को पुलिस में शिकायत दर्ज कराई।

पुलिस ने आईपीसी की धारा 143, 147, 149, 452, 336, 323, 504, 506 और अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति की संबद्ध धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। शिकायत के बाद पुलिस ने गांव में 24 घंटों की गश्त के लिए एक टीम भी भेजी थी, पर अभी तक किसी की गिरफ्तार नहीं की जा सकी है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें