यूपी: धर्म परिवर्तन के फर्जी मामले में पुलिस ने किया ईसाई परिवार का उत्पीड़न

0
53

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में धर्म परिवर्तन के फर्जी मामले में पुलिस की और से एक ईसाई परिवार को प्रताड़ित किए जाने का मामला सामने आया है। पुलिस ने बजरंग दल के कार्यकर्ताओं की शिकायत पर परिवार के सदस्यों को गिरफ्तार किया था। हालांकि बाद में मामला पूरा फर्जी निकला। पुलिस ने ईसाई परिवार के सदस्यों को रिहा कर दिया है।

जानकारी के अनुसार, घटना रविवार की है। दरअसल यूपी के मुरादाबाद इलाके में बजरंग दल के कुछ स्थानीय कार्यकर्ता झांझरपुर इलाके में स्थित एक सामुदायिक भवन में पहुंचे थे। जहां बड़ी संख्या में हिंदू समुदाय के लोग मौजूद थे और एक ईसाई परिवार के तीन सदस्य भी मौके पर मौजूद थे।

बताया जा रहा है कि, बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने ईसाई लोगों पर धर्म परिवर्तन के आरोप लगाए और मौके पर पुलिस को बुला लिया। जिसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर रोसलिन मेसी, विनोद कुमार और हरीश कुमार को हिरासत में ले लिया। बजरंग दल के कार्यकर्ताओं का कहना है कि आरोपी ईसाई गरीब हिंदुओं का धर्मांतरण करा रहे थे।

हालांकि अब टेलीग्राफ की एक खबर के अनुसार, कार्यक्रम में मौजूद कई हिंदुओं ने दावा किया है कि हिरासत में लिए गए ईसाई लोग लंबे समय से उनकी मदद करते आ रहे हैं और जरुरत के वक्त उनकी मदद करते हैं। लोगों का कहना है कि हिरासत में लिए गए लोग उन्हें खाना, अनाज, बच्चों की किताबें आदि मुहैया कराते हैं, लेकिन उन्होंने कभी भी उनसे धर्मांतरण के लिए नहीं कहा है।

पीड़ित विनोद कुमार ने बताया कि पुलिस स्टेशन में उन्हें जमीन पर बिठाया गया और बजरंग दल के कार्यकर्ता कुर्सियों पर बैठे थे। विनोद ने आरोप लगाया कि पुलिस ने उन्हें फंसाने की कोशिश की और हमें धमकाया गया, लेकिन वह ऐसा करने में सफल नहीं हो सके।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें