अब महाराष्ट्र कांग्रेस में बगावत – राधाकृष्ण पाटिल के बाद अब्दुल सत्तार का MLA पद से इस्तीफा

0
64

लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद कांग्रेस पार्टी की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। अब महाराष्ट्र में कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। कांग्रेस नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल और पूर्व मंत्री अब्दुल सत्तार ने विधायक (MLA) के पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष को अपना इस्तीफा सौंप दिया है।

माना जा रहा है कि वह महाराष्ट्र में कैबिनेट विस्तार से पहले बीजेपी में शामिल हो सकते हैं। पाटिल राज्य में कांग्रेस विधायक दल के नेता पद से पहले ही इस्तीफा दे चुके हैं। उनका कहना है कि 10 और विधायक कांग्रेस पार्टी छोड़ने वाले हैं। कांग्रेस विधायक के रूप में अपने इस्तीफे पर उन्होंने कहा, ‘मैंने लोकसभा चुनाव के दौरान भी पार्टी के लिए प्रचार भी नहीं किया था। मुझे हाईकमान पर संदेह नहीं है, उन्होंने मुझे विपक्ष का नेता बनाकर मुझे मौका दिया था। मैंने अच्छा काम करने की कोशिश की लेकिन स्थिति ने मुझे इस्तीफा देने के लिए मजबूर किया।’

वहीं हाल ही में पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त होने के कारण पार्टी से निकाल दिए गए कांग्रेस विधायक अब्दुल सत्तार ने कहा, ‘8 से 10 कांग्रेस विधायक बीजेपी के संपर्क में हैं। राज्य में कांग्रेस के नेतृत्व के साथ निराशा और उनके कामकाज का तरीका हमारे फैसले के पीछे का कारण है। राज्य नेतृत्व यहां पार्टी को नष्ट कर रहा है।’

बता दें कि राधाकृष्ण विखे पाटिल के नेता प्रतिपक्ष के पद छोड़ने की सबसे बड़ी वजह अहमदनगर लोकसभा सीट को बताया गया था। इस सीट से वो अपने बेटे के लिए टिकट मांग रहे थे। लेकिन ये सीट एनसीपी के खाते में गई है। इसके चलते पहले उनके बेटे पार्टी छोड़ी और अब राधाकृष्ण विखे पाटिल ने विधायक पद से भी दे दिया है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें