भगवाधारियों ने दलित नाबालिग के हाथ-पैर बांधकर पीटा, गहलोत सरकार पर उठे सवाल

0
155

राजस्थान में कानून व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा चुकी है। आए दलितों और अल्पसंख्यकों पर हमले हो रहे है। लेकिन राज्य की गहलोत सरकार सुरक्षा देने में नाकाम है। ताजा मामला दलित नाबालिग के साथ हिंसा से जुड़ा हुआ है।

पाली जिले से जुड़ी इस घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर खूब तेजी से वायरल हो रहा है। जिसमे दिख रहा है कि घटना के दौरान हमलावरों ने रस्सी से उसके हाथ-पैर बांधे और फिर डंडों से बुरी तरह पिटाई की। हमलावरों के साथ तब भगवा कुर्ते और गमछे में एक व्यक्ति भी था, जो दलित लड़के की पिटाई के लिए उन्हें कथित तौर पर आदेश दे रहा था।

समाचार एजेंसी एएनआई को इस बाबत एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि हमलावरों को शक था कि लड़के ने किसी लड़की को छेड़ा है, जिसे लेकर उसकी पिटाई की गई। अधिकारी के अनुसार, “पॉस्को एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। जांच के बाद उसे जुवेनाइल सुरक्षा गृह भेज दिया गया है। एक वायरल वीडियो भी सामने आया है, जिसमें कुछ स्थानीय उसे पीट रहे थे, उन्हें भी हिरासत में ले लिया गया है।”

वहीं कई मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया कि दलित लड़के ने इलाके में स्थित मंदिर में घुसने की कोशिश की थी, जिस पर उसकी पिटाई की गई। वायरल वीडियो में वह जमीन पर पीठ के बल गिरा पड़ा था। उसके हाथ-पैर रस्सियों से बंधे थे, जबकि वह रहम की भीख मांग रहा था।

पाली के पुलिस अधीक्षक आनंद शर्मा बोले, “आरोपी के खिलाफ एक जून को बलात्कार के आरोप में मामला दर्ज हुआ था। उसे पकड़ा गया है और बाल सुधार गृह भेज दिया गया। वीडियो में चार लोग उसे पीट रहे थे। हमने उसके घरवालों से संपर्क साधा तो उन्होंने एफआईआर दर्ज कराई।”

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें