बेरोजगारी से निपटने के लिए पीएम मोदी ने बनाई दो कैबिनेट समिति, ठेले और रेहड़ी वालों का होगा आर्थिक सर्वेक्षण

0
54

देश में आर्थिक विकास दर और निवेश में सुस्ती और बेरोजगारी की बढ़ती दर से दबाव में आई मोदी सरकार ने बुधवार को दो कैबिनेट समिति का गठन किया है। इन दोनों समितियों की अध्यक्षता प्रधानमंत्री करेंगे। इन्वेस्टमेंट और ग्रोथ को लेकर बनी समिति में पांच सदस्य हैं। इसमें गृह मंत्री अमित शाह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, रोड ट्रांसपोर्ट एंड हाइवेज एंड ऑफ एमएसएमई मिनिस्टर नितिन गडकरी और रेल मंत्री पीयूष गोयल शामिल हैं। इसके अध्यक्ष पीएम मोदी हैं।

पीएम मोदी की अध्यक्षता में रोजगार और दक्षता विकास को लेकर बनी कैबिनेट समिति में 10 सदस्य हैं. मोदी के अलावा इस समिति में गृह मंत्री अमित शाह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, रेल मंत्री पीयूष गोयल, कृषि व किसान कल्याण ग्रामीण विकास व पंचायत राज मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, दक्षता व उद्यम मंत्री महेंद्र नाथ पांडे, श्रम राज्य मंत्री संतोष सिंह गंगवार और हाउसिंग एंड अर्बन अफेयर्स मिनिस्टर हरदीप सिंह पुरी शामिल हैं।

इसके अलावा मोदी सरकार देश में रोजगार को लेकर जल्द ही एक नया सर्वे करवाएगी। मोदी सरकार यह सर्वेक्षण पहली बार ठेले, रेहड़ी, और अपना रोजगार करने वाले लोगों को विकास की मुख्यधारा में लाने के लिए कराएगी। सूत्रों के अनुसार आर्थिक सर्वेक्षण जून के आखिरी हफ्ते में शुरू होगा।

बता दें कि सरकार के लिए अर्थव्यवस्था की सुस्ती बड़ी चुनौती है। विशेषकर पिछले वित्तीय वर्ष में सालाना जीडीपी दर अनुमानित 7 फीसदी के मुकाबले गिरकर 6.8 फीसदी पर आ गई। विकास दर हर तिमाही में लगातार घटती रही। आर्थिक वृद्धि दर वित्त वर्ष 2018-19 की अंतिम तिमाही में घटकर 5.8 फीसदी पर आ गई।

दूसरी तरफ पीरियाडिक लेबर फोर्स सर्वे (पीएलएफएस) के मुताबिक बेरोजगारी दर 6.1 फीसदी पर रही जो 45 वर्षों में सबसे अधिक है। इसकी वजह से केंद्र सरकार को विपक्ष के विरोध का भी सामना करना पड़ रहा है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें