CM अमरिंदर सिंह ने बदला नवजोत सिंह सिद्धू का विभाग, बोले – मुझे निशाना बनाया जा रहा

0
42

चंडीगढ़: पंजाब में मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह द्वारा नवजोत सिंह सिद्धू का विभाग बदल दिया. इस दौरान सिद्धू मंत्रिमंडल की बैठक में भी शामिल नहीं हुए. उन्हें ऊर्जा और नवीन-नवकरणीय ऊर्जा मंत्रालय दिया गया है। इससे पहले वे पर्यटन और शहरी विकास मंत्री थे.

इस फैसले में भी कैप्टन ने एक अनुभवी, सह्रदय और सीनियर नेता के अपने रुतबे का ही परिचय दिया है. उन्होंने सिद्धू पर एक्शन लेते हुए भी इस बात का पूरा ध्यान रखा कि सिद्धू के सम्मान को ठेस न पहुंचे. उन्होंने सिद्धू से एक बड़ा विभाग वापस लिया और दूसरे बड़े विभाग की जिम्मेदारी उन्हें सौंप दी. साफ है कि कैप्टन ने अपने अधीनस्थ बड़बोले मंत्री पर बदले की भावना से कार्रवाई नहीं की और उन्हें संभलने का पूरा मौका दिया है.

इस बारे में सिद्धू ने संवाददाताओं से कहा,‘‘मुझे हल्के में नहीं लिया जा सकता. ‘‘मेरे विभाग पर सार्वजनिक रूप से निशाना साधा जा रहा हैं. मैंने हमेशा उन्हें बड़े भाई की तरह सम्मान दिया है. मैं हमेशा उनकी बात सुनता हूं. लेकिन इससे दुख पहुंचता है.सामूहिक जिम्मेदारी कहां गई?’’

हालांकि, सिद्धू ने कहा कि उन्होंने हमेशा से अच्छा प्रदर्शन किया है और दावा किया कि पंजाब में पार्टी की जीत में शहरी इलाकों ने अहम भूमिका निभाई. सिद्धू ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘मुझे हल्के में नहीं लिया जा सकता. मैंने अपने जीवन में 40 साल तक अच्छा प्रदर्शन करके दिखाया है, चाहे वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट हो या ज्योफ्री बॉयकाट के साथ विश्वस्तरीय कमेंट्री हो, टीवी कार्यक्रम हो या 1300 प्रेरक वार्ताओं का मामला हो.’’

सिद्धू ने कहा कि वह अपने नाम, विश्वसनीयता और प्रदर्शन का “पूरी तरह से” बचाव करेंगे. उन्होंने कहा, “हर कोई मुझसे पूछ रहा है कि मैं कैबिनेट की बैठक में क्यों नहीं गया. जब आप कैबिनेट मंत्री बनते हैं तो शपथ दिलाई जाती है और उसके बाद कहा जाता है कि यह एक सामूहिक जिम्मेदारी है. मैं राजनीति विज्ञान का छात्र रहा हूं और यह पढ़ाया जाता है कि नियम यह है कि हम साथ चलेंगे और साथ डूबेंगे.’’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें