जायरा वसीम ने अल्लाह के लिए छोड़ी फिल्मी दुनिया, हो रही अब जमकर ट्रोल

0
577

आमिर खान की हिट फिल्म दंगल से अपने करियर की शुरुआत करने वाली रातोंरात मशहूर हुईं कश्मीरी अभिनेत्री जायरा वसीम ने फिल्म करियर को अलविदा कह दिया है।  जल्द ही वह सोनाली बोस की फिल्म ‘द स्काई इज पिंक’में प्रियंका चोपड़ा और फरहान अख्तर साथ स्क्रीन शेयर करने वाली थीं।

दरअसल, उनका कहना है कि इसके कारण वह अपने धर्म से दूर जा रही थीं। अपने फेसबुक पेज पर विस्तार से लिखे एक पोस्ट में 18 वर्षीय अभिनेत्री ने बॉलीवुड में अपने अच्छे करियर को छोड़ने के लिए धार्मिक कारणों का हवाला दिया। उन्होने लिखा, 5 सालों में मुझे बेशुमार सफलता मिली है, मुझे एक रोल मॉडल की तरह देखा जाने लगा है, लेकिन वो ये नहीं था जो मैं चाहती थी। फिल्म इंड्स्ट्री में पांच साल होने के बाद मैं ये कबूल करना चाहती हूं कि मैं अपनी इस पहचान से खुश नहीं हूं। यह मुझे मेरे ईमान से दूर कर रहा है। मेरे मजहब के साथ मेरे रिश्तों को खतरा पहुंचा रहा है।

उनके इस फैसले को लेकर अब तमाम सितारों और अन्य सेलिब्रिटीज सोशल मीडिया पर इस बारें में प्रतिक्रिया दे रहे हैं। इस बीच बॉलीवुड एक्ट्रेस रवीना टंडन ने जायरा के इस फैसले पर नाराजगी जताई है। रवीना टंडन ने ट्विटर पर लिखा, ‘कोई फर्क नहीं पड़ता अगर वो लोग जिन्होंने महज 2 फिल्मों में काम किया है, इस इंडस्ट्री के प्रति कृतज्ञता महसूस नहीं करते हैं कि उन्हें यहां क्या-क्या मिला है।’उन्होंने आगे ‘आशा करिए कि वो शांति के साथ यहां से निकल जाएं और अपने उल्टे रास्तों पर चलने वाली सोच को खुद तक ही सीमित रखें।’ ‘

वहीं शिवसेना ने जायरा के धर्म के नाम पर अभिनय की दुनिया को छोड़ने के फैसले की आलोचना की। कांग्रेस छोड़कर शिवसेना में शामिल हुईं प्रियंका चतुर्वेदी ने जायरा के फैसले पर ट्विटर पर लंबी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने ट्वीट किया, ‘आप अपनी आस्था का पालन कर सकते हैं अगर यह आपको आकर्षित कर रहा है, लेकिन कृप्या अपने करियर का फैसला धर्म को आधार बनाकर न करें। यह आपके धर्म को असहिष्णु बताता है जबकि हकीकत में ऐसा नहीं है। यह उनके धर्म (जायरा वसीम) के लिए भी एक बड़ा प्रतिगामी कदम है और इस गलत धारणा को और पुष्ट करता है कि इस्लाम में सहिष्णुता की जगह नहीं है।’

बीजेपी ने भी जायरा वसीम के फिल्म लाइन छोड़ने के फैसले को दबाव में लिया फैसला बताया। बीजेपी प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने एक मीडिया चैनल से कहा, ‘धर्म के आधार पर ऐक्टिंग छोड़ने का फैसला दबाव में लिया हुआ फैसला लग रहा है। वह लगातार कट्टरपंथी समूहों के निशाने पर भी थीं।’ दूसरी तरफ नैशनल कॉन्फ्रेंस के लीडर उमर अब्दुल्ला ने जायरा के फैसले का सम्मान करने की सीख सबको दी।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें