क’ब्र से नाबालिग की ला’श निकाल कर दुष्क’र्म की कोशिश, कुछ दिन पहले ही जे’ल से छूटा है आरो’पी

0
191

असम के धीमाजी जिले में 51 वर्षीय एक व्यक्ति को 14 वर्षीय नाबालिग लडकी के श’व को क’ब्र से निकालकर उसके साथ दुरा’चार की कोशिश के आ’रोप में पु’लिस ने गिर’फ्तार किया है. लड़की की मौ’त संदे’हास्पद स्थिति में हुई थी, जिसके बाद उसके परिवार वालों ने उसे दफ’ना दिया था. 18 मई के गांव वालों ने आ’रोपी अकान साइक्या को ऐसा करते हुए पकड़ा था. धीमाजी के सुपरिटेंडेंट ऑफ पु’लिस (एसपी) धनंजय घनावत ने कहा, “लड़की की मौ’त 17 मई को संदे’हास्पद परिस्थिति में हुई और उसके बाद उसी रात को उसके परिवार वालों ने श’व को द’फना दिया था, जो गांव के करीब ही था. कुछ गांववाले भी उस वक्त वहां मौजूद थे.”

18 मई की दोपहर बाद कुछ मछुआरों ने देखा कि आरो’पी श’व के साथ बला’त्कार की कोशिश कर रहा है. आ’रोपी शख्स ने श’व को मिट्टी खोदकर क’ब्र से निकाल लिया था. उसे पकड़कर पु’लिस को सौंप दिया गया. घनावत ने कहा, “आरो’पी मानसिक तौर पर विक्षिप्त तो नहीं है लेकिन मनोरोगी है. उसका आप’राधिक रिकॉर्ड भी है.” आरो’पी शख्स ने दो बार शादी की थी और साल 2018 में उसकी एक पत्नी ने उसके ऊपर घरेलू हिं’सा का आ’रोप लगाया था. उसे स’जा हुई थी और वह धीमाजी जे’ल में सजा’ काट रहा था.

सुप्रीम को’र्ट के इस आदेश के बाद कि कोविड-19 महामा’री के चलते जे’ल में कै’दियों को कम किया जाए, मार्च के आखिर में उसे छोड़ा गया था. पु’लिस ने इस लड़की के श’व को दोबारा क’ब्र से निकाला जिसे लोगों ने फिर से द’फना दिया था. उसके बाद उसे पोस्टमा’र्टम के लिए भेज दिया है, जिसकी रिपोर्ट का अभी इंतजार किया जा रहा है. एसपी ने कहा कि आरो’पी शख्स ने अपना गु’नाह कबूल कर लिया है और उसे न्यायिक हिरा’सत में भेज दिया गया है.

यह टीशर्ट खरीदने के लिए इस फोटो पर क्लिक करें