एक समय के बहुचर्चित बाबरी मस्जिद ध्वं’स मामले में आज शुक्रवार को बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी का बयान दर्ज कराया जायेगा। आडवाणी का यह बयान विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सीबीआई को’र्ट में दर्ज कराया जायेगा। इस मामले में गत गुरुवार को विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मुरली मनोहर जोशी ने भी अपना बयान दर्ज कराया था। विशेष जज सुरेंद्र कुमार यादव की अदा’लत में जोशी ने बयान दर्ज कराते हुए कहा कि उनके खि’लाफ फ’र्जी मुक’दमा चलाया गया। अब वह अदा’लत में अपनी बेगु’नाही के सबूत देंगे।

गुरुवार को गृहमंत्री अमित शाह और लाल कृष्ण आडवाणी के बीच इस मुद्दे को लेकर विशेष मुलाकात हुई। दोनों नेताओं के बीच दिल्ली में 30 मिनट तक इस बाबत बातचीत हुई. बाबरी मस्जिद ध्वं’स मामले में यूपी के पूर्व सीएम कल्याण सिंह और बीजेपी नेता उमा भारती के बयान पहले ही दर्ज हो चुके हैं। अब लालकृष्ण आडवाणी समेत तीन आरो’पियों का बयान दर्ज होना बाकी है। सभी 32 आरो’पियों का बयान दर्ज होने के बाद अदा’लत उन्हें अपनी सफाई और सुबूत पेश करने का मौका देगी। गत 8 मई को सुप्रीम को’र्ट ने सीबीआई की विशेष अदा’लत को यह आदेश दिया था कि इस मामले को 31 अगस्त तक निस्तारित किया जाये।

बता दें कि 6 दिसंबर, 1992 को विवा’दित ढांचा ढहाए जाने के मामले में सीबीआई ने जांच के बाद 49 आरो’पियों को नामजद करते हुए आ’रोप पत्र दाखिल किया था। अब तक 17 आरो’पियों की मौ’त भी हो चुकी है। विशेष सीबीआई अदा’लत बाबरी मस्जिद ध्वं’स मामले में अप’राध प्रक्रिया संहिता की धारा 313 के तहत सभी 32 आरो’पियों के बयान दर्ज कर रही है। सुप्रीम को’र्ट के आदेश के बाद से विशेष अदा’लत इस प्रकरण में रोजाना कार्यवाही कर रही है।