तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोगन ने शनिवार को 1967 के तहत आने वाली सीमाओं के भीतर पूर्वी यरुशलम के अपनी राजधानी के रूप में साथ एक स्वतंत्र, संप्रभु और एकीकृत फिलिस्तीनी राज्य की स्थापना की दिशा में काम जारी रखने के संकल्प को दोहराया।

मुस्लिम अमेरिकन सोसायटी के 23 वें वार्षिक सम्मेलन में एक वीडियो संदेश में, एर्दोगन ने कहा: “तुर्कों को यरूशलेम के अधिकारों की रक्षा करनी चाहिए, यहां तक कि इसके लिए उन्हे अपनी जिंदगी की भी परवाह नहीं करनी चाहिए।” यह कहते हुए कि यह “इस्लामी राष्ट्र का सम्मान” है।

उन्होंने कहा, “हम यरूशलेम के मुद्दे का बचाव करने के लिए सभी मंचों के माध्यम से काम करते हैं। हम अपने सभी ताकत के साथ काम कर रहे हैं ताकि हमारे फिलिस्तीनी भाइयों के खिला’फ कब्जे की नीतियों, अन्याय और न’रसं’हार को समाप्त किया जा सके।”

राष्ट्रपति ने इस्लामी दुनिया को अपने मतभे’दों को एक तरफ रखने और इस्लामी प्रतिबंधों के हमलों के सामने एकजुट होने का आह्वान किया।

इंडोनेशियाई सांसदों ने कल राष्ट्रपति जोको विडोडो से इ’जराय’ल के नागरिकों से वीजा आवेदन स्वीकार करने के फिर से शुरू करने के फैसले को समाप्त करने का आह्वान किया। दरअसल पिछले हफ्ते यह बताया गया था कि इज़’रा’इल सहित आठ देशों के नागरिकों को “कॉलिंग वीज़ा” दिया जा रहा है।