दुबई:एक नई रिपोर्ट के मुताबिक़, यूएई के निवासी एक साल में दो बार रमज़ान के मुबारक महीने का पालन करने में सक्षम होंगे। हूबहू 1997 में भी यही वाकया पेश आया था।


गल्फ न्यूज़ के मुताबिक़, अरब फेडरेशन ऑफ स्पेस एंड एस्ट्रोनॉमी साइंसेज के सदस्य इब्राहिम अल जारवान ने बताया कि इस्लामिक कैलेंडर एक चाँद है, और लगातार सौर वर्ष के 11 दिन कम चलता है। इसलिए हर साल जो गुजरता है, जो कि चाँद के दिखाई देने पर निर्भर करता है।


जरीन ने कहा की,“साल 2030 में रमजान का मुबारक महीना दो बार आएगा। पहला ऐसा समय होगा जब रमजान 5 जनवरी, 2030 को हिजरी वर्ष 1451 के लिए शुरू होगा, और फिर, रमजान का महीना 26 दिसंबर, 2030 को हिजरी वर्ष 1452 से शुरू होगा। “ जिसके चलते एक ही साल में दो बार रमज़ान आएगा।


“और रमज़ान के कुल दिन लगभग 36 दिन होंगे, इंशाल्लाह।”


उन्होंने यह भी बताया कि जैसे हिजरी कैलेंडर में 354 दिन होते हैं, जो ग्रेगोरियन से 11 दिन कम है, दो कैलेंडर सिस्टम आखिरकार पूर्ण चक्र आएंगे और खुद को दोहराएंगे।