मजीजिया बानो केरल की एक पेशेवर पावरलिफ्टिंग और बॉडी बिल्डर भी है। जिन्हें केरल पावरलिफ्टिंग एसोसिएशन द्वारा केरल की सबसे मजबूत महिला का खिताब दिया गया है। यह बड़ो बात है कि यह खिताब मजीजिया को लगातार ही तीसरी बार भी मिला है और उससे भी बड़ी बात यह है कि मजी’निया यह सब हि’जाब और पर्दे में रहकर भी करती है।मजीजिया बानो केरल के एक छोटे से गांव की रहने वाली है।

वह पूरी बाजू वाली काली ड्रेश पहनकर और उसके साथ सिर को हिजाब ढके जब मंच पर कदम रखटी है तो हर कोई हैरानी से उनकव देखता हुआ भी रह जाता है। बता दे कि मजीजिया बानो ने साल 2017 में ऐशियाई पावरलिफ्टिंग चैम्पियमस इंडोनेशिया में भी रजत पदक को जीता था। उनकी इस उपलब्धि पर देश को गर्व भी महसूस होता है। कोची में महिला फिटनेस फिजिक 2018 में भी मजीजिया ने स्वर्ण पदक को जीता था।

इसके अलावा साल 2019 में World powerlifting की चैम्पिनयन्स भी रही है।मजीजिया कहती है कि मैं एक छोटे बच्चे के रूप में अलग अलग हर खेल सीखने के लिए उत्सुल और उत्साहित भी रहती हूँ। मुझे खुशी है कि मेरे माता और पिता अब्दुल मजीद और रईसा मजीफ ने मेरे सपनों को पूरा करने में भी मेरा साथ दिया है।

उन्होंने हमशा ही मेरा हौसला भी बढ़ाया है। उन्होंने मेरे लिए सब कुछ किया है जो मेने उन्होंने मंगा भी है। मजीजिया मु’स्लिम लड़कियों के लिए भी एक प्रेरणा बनकर उभरी है।