इस समय फ्रांस सहित दुनिया के कई हिस्सों में इस्लाम को लेकर एक बार फिर बहस तेज हो गई है । फ्रांस के राष्ट्रपति मेक्रोन द्वारा इस्लाम के अपमान के बाद दुनिया भर के मुस्लिम देश एकजूट होकर विरो’ध करने में लगे हुए है । अगर दूसरी तरफ राजस्था’न के झुंझनू जिले की बात करें तो यहां पर एक हि’न्दू शक्स ने पैगम्बर हज़रत मोहम्म’द सल्ला’हु अलै’हि वसल्ल’म की जीवनी और कु’रान को मारवाड़ी भाषा मे अनुवाद किया है । यह मार’वाड़ी शख्स अब लोगों को इस्ला’म के बारे में बताने में लगे हुए है।

राजीव शर्मा नाम के इस शख्स ने पवित्र कु’रआन शरी’फ का मारवाड़ी में अनुवाद किया और इसे अब मु’स्लिम समु’दाय तक भी पहुँचा रहे है ।इंडिया टुमारो से बात करते नए राजीव कहते है कि इस्ला’म शांति का मज़हब है और कोई अगर इस्ला’म के नाम पर कोई गल’त काम करता है, हिं’सा करता है तो यह क़ुरआन और हज़रत मोह’म्मद सल्ला’हु अलै’हि वसल्ल’म की शिक्षा’ओं के विपरीत है । उन्होंने कहा कि इस्ला’म हिं’सा का संदेश बिल्कुल नही देता है ।

झुंझुनूं जिले के कोलसिया गांव में रहने वाले शर्मा ने पवित्र कु’रान शरीफ का अनुवाद करने की वजह बताई । उन्होंने कहा कि यह अनुवाद बहुत खास इसलिए कि 1400 साल के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है। साल 2015 में भी पैग़’म्बर मोह’म्मद स’ल्लाहु अलै’हि व’सल्लम की जीवनी पर को भी मारवाड़ी में अनुवाद किया था ।

वो कहते है कि मैंने मारवाड़ी में अनुवाद के दौरान क़ु’रआन में ऐसी कई आयते मिली जो शांति, सदाचार, और नैतिक’ता का संदेश देती है । उन्होंने बताया कि अगर किसी ने एक बेगु’नाह की ह’त्या की तो उसका यह पाप पूरी मानव’ता की मृ’त्यु करने के बराबर माना जायेगा ।