ऑस्ट्रेलियाई कंपनी ने पानी को बेक़दरी से बचाने के लिए नबी-ए-पाक की हदीस अपनी पानी की बोतलो पर लगाया है। जिसमे कहा गया है कि, ” चाहे आप कितनी भी जल्दी में क्यों ना हो, आपको पानी बर्बाद नही करना चाहये।

एक नज़र हदीस पर:
… और हम आसमान से पानी को माप में भेजा, और इसे ज़मीन पर उतारा हैं, और देखो! हम इसे वापस लेने में भी सक्षम हैं।”- पवित्र कुरान (23:18)

पानी जीवन और इस्लाम के तरीकों दोनों में एक मूल्यवान संसाधन है, और इस तरह, इसे इस्लाम में पृथ्वी पर किसी अन्य जीवित चीज़ को पानी देने के लिए एक महान धर्मार्थ कार्य माना जाता है। मतलब अगर आप किसी प्यासे जीव को पानी पिलाते है तो अल्लाह आपको इस नेक काम का सवाब देता है।

“नबी-ए-पाक ने फरमाया: सबसे अच्छा सदक़ा किसी प्यासे को पानी पिलाना है।”